ऐसा जरूरी नही की जो आज साथ है वो कल भी हमारे साथ ही हो और इसी विचार के अनुरूप Huawei ने अपना एक अलग ऑपरेटिंग सिस्टम विकसित कर लिया है ,ताकि भविष्य में वह ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए एंड्रॉयड और विंडो के भरोसे ना रहे।यह बात कम्पनी के एक्सिक्यूटिव Richard Yu ने Dei welt को दिए अपने इंटरव्यू में बताई।

उन्होंने Die welt को दिए इंटरव्यू में कहा–”हम अपने खुद के ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ पूरी तरह से तैयार है और यदि वे (एंड्रॉइड व विंडो)अपने हाथ पीछे खिंचते है ,तो हम Plan–B के साथ पूरी तरह से तैयार होंगे।

हालांकि Huawei 2012 से एंड्रॉइड को रिप्लेस करने वाले एक अन्य विकल्प पर काम कर रही थी और चाइना मोर्निंग पोस्ट के अनुसार Huawei इसे 2016 मे लगभग बना चुकी थी।

via

बस इसकी औपचारिक घोषणा का ही इन्तेजार था। चूंकि यूएस में Huawei पर एंड्राइड इस्तेमाल पर सवाल उठते आये है ऐसे Huawei का PlanB ऑपरेटिंग सिस्टम एक Huawei को एक लीगल सपोर्ट प्रदान तो करता ही है।

हालही में Huawei ने यूएस में उसकी टेक्नोलॉजी के प्रयोग को लेकर मुकदमा दायर किया था।जिसमे की फेडरल नेटवर्क द्वारा सरकारी ठेकेदारों के लिए Huawei इक्यूपमेंट के प्रयोग को रोकने का जिक्र था।

via

वही Huawei ने मुकदमे में यह भी कहा कि यूएस राज्य जानबूझकर Huawei को किसी ना किसी बहाने सजा देने की कोशिश कर रहा ताकि वह आने वाली 5G रेस में पीछे हट जाए।

Yu ने अपने इंटरव्यू में कहा कि “वह गूगल और माइक्रोसॉफ्ट के परिस्थितिक तंत्र के साथ काम करना पसंद करते है,पर अब वह अपने ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ कार्य को लेकर ज्यादा गंभीर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here